Track your constituency


राष्ट्रवादी कांग्रेस पार्टी (एनसीपी)



Nationalist Congress Party Symbol

राष्ट्रवादी कांग्रेस पार्टी के बारे में



राष्ट्रवादी कांग्रेस पार्टी (एनसीपी) तथ्य

स्थापना25 मई 1999
संस्थापकशरद पवार, पी.ए. संगमा और तारिक अनवर
एनसीपी के वर्तमान प्रमुख नेताशरद पवार, तारिक अनवर, प्रफुल्ल पटेल
एनसीपी के अध्यक्षशरद पवार
पार्टी का प्रकारसेंटर टू सेंटर - लेफ्ट
विचारधाराभारतीय राष्ट्रवाद,नागरिक राष्ट्रवाद, सामाजिक न्याय,सामाजिक समानता, समाजवाद,धर्मनिरपेक्षता
चुनाव चिन्ह
गठबंधनसंयुक्त प्रगतशील गठबंधन,वाम डेमोक्रेटिक फ्रंट (केरल),वाम डेमोक्रेटिक मंच, असम
पार्टी का प्रकारराष्ट्रीय पार्टी
एनसीपी युवा शाखाराष्ट्रवादी युवा कांग्रेस
महिला शाखाराष्ट्रवादी महिला कांग्रेस
विद्यार्थी शाखाराष्ट्रवादी छात्र कांग्रेस
कृषि श्रमिक संगठनराष्ट्रवादी किसान सभा
रंग
नीला
लोकसभा में सीटें545 में से 6
राज्यसभा में सीटें245 में से 4
मुख्य कार्यालय का पता10, बिशम्बर दास मार्ग, नई दिल्ली- - 110001
फोन नंबर011- 23314414, 23359218, 23752938
फैक्स+91 11 23352112
आधिकारिक वेबसाइटhttp://www.ncp.org.in/
20 मई 1999 को भारतीय राष्ट्रीय कांग्रेस (आईएनसी) का नेतृत्व करने वाली इटली में जन्मी सोनिया गांधी के अधिकार पर विवाद करने से निष्कासित होने के बाद शरद पवार, पी.ए. संगमा और तारिक अनवर द्वारा 25 मई 1999 को राष्ट्रवादी कांग्रेस पार्टी (एनसीपी) का गठन किया गया था। ये तीनों, हजारों समर्थकों के साथ नई पार्टी बनाने के लिए नंबर 6, गुरुद्वारा राकब गंज रोड, नई दिल्ली में इकट्ठे हुए और इसे देश के लाल पत्र दिवस के रूप में चिह्नित किया।एनसीपी केंद्र के वामपक्ष का राजनीतिक दल है, जो दादाभाई नौरोजी, तिलक, जवाहरलाल नेहरू, एनी बेसेंट, मौलाना अबुल कलाम आजाद जैसे अन्य अनुयायी कांग्रेस नेताओं की परंपराओं को कायम रखता है।शरद पवार को एनसीपी का अध्यक्ष बनाया गया था और पी.ए. संगमा तथा तारिक अनवर को पार्टी के महासचिव बनाया गया था। भारत के निर्वाचन आयोग ने एनसीपी को राष्ट्रीय पार्टी के रूप में मान्यता दी है।देश के इतिहास में, इतने कम समय में राष्ट्रीय पार्टी की स्थिति प्राप्त करने वाली यह एकमात्र पार्टी थी।

एनसीपी देश में समानता, सामाजिक न्याय और एकता के साथ लोकतांत्रिक धर्मनिरपेक्ष समाज को कायम रखने केलिए स्थित है। यह मानती है कि संघवाद को मजबूत करके और गांव के स्तर तक सत्ता को विकेंद्रीकृत करके भारत की अखंडता हासिल की जा सकती है। यह समाज के कमजोर वर्गों, विशेष रूप से अनुसूचित जाति, अनुसूचित जनजाति और अन्य पिछड़ा वर्ग को सशक्त बनाने में विश्वास करता था। एनसीपी सार्वभौमिक निरस्त्रीकरण नीतियों का एक मजबूत समर्थक है, जो अकेले ही देश में शांति ला सकती है।एनसीपी का मानना है कि देश में आर्थिक विकास केवल प्रतिस्पर्धा, आत्मनिर्भरता, व्यक्तिगत पहल के माध्यम से हासिल किया जा सकता है जो सामाजिक न्याय और गैर-भेदभाव की मांगों को पूरा करती है। यह समाज से बेरोजगारी, भुखमरी, सांप्रदायिकता, शोषण को खत्म करने में विश्वास रखती है।

एनसीपी एक ऐसी मजबूतसरकार की अवधारणा का पालन करती है जो हर कीमत पर देश को भ्रष्टाचार से मुक्त करना चाहती है।ऐसा केवल धर्म, जाति, पंथ, लिंग और अन्य सामाजिक संकेतकों में किसी भी पूर्वाग्रह के बिना, देश के कानून के नियम को कायम रखने के माध्यम से प्राप्त किया जा सकता है। इसी तरह, यह किसी भी पार्टी के कामकाज की सत्तावादी और राजवंशीय शैली को स्वीकार नहीं करती है, जैसे कि आईएनसी, जिसके खिलाफ एनसीपी ने जोरदार विरोध किया। यह पार्टी के एक संस्थागत और लोकतांत्रिक कामकाज में विश्वास रखती है। एनसीपी के सदस्यों का मानना है कि विदेशी मूल का कोई भी व्यक्ति, देश का राष्ट्रपति, देश का प्रधानमंत्री, मुख्य न्यायाधीश, सेना प्रमुख और अन्य कोईभी उच्चतम सीटों का पद ग्रहण नहीं कर सकता है। हालांकि, मुख्य रूप से महाराष्ट्र राज्य में स्थित, एनसीपी धीरे-धीरे असम, गुजरात, बिहार, राजस्थान, आंध्र प्रदेश, मध्य प्रदेश और पश्चिम बंगाल जैसे राज्यों में प्रमुखता प्राप्त कर चुकी है। यह अंडमान और निकोबार द्वीप समूह के संघ शासित प्रदेश में भी मौजूद है।

चुनाव चिन्ह और इसका महत्व

एनसीपी का चुनाव चिन्ह एक एनालॉग घड़ी है जो समय 10:10 दिखाती है। घड़ी नीले रंग से बनी हुई है और इसमें दो पाये और एक अलार्म बटन है।यह भारतीय ध्वज तिरंगा पर बना हुआ है।एनसीपी द्वारा उपयोग किया जाने वाला प्रमुख चिन्ह यह दर्शाता है कि एनसीपी अच्छे सिद्धांतों के लिए लड़ती रहेगी, भले ही स्थिति कितनी ही मुश्किल भरी क्यों न हो।राष्ट्रवादी कांग्रेस पार्टी आम जनता के विचारों और चिंताओं का प्रतिनिधित्व करती है।यह भारत के आम नागरिकों की तरफ से बोलने के आदर्शों का प्रतीक है। इसमें, एनसीपी जनता के बीच अपने प्रतीक के द्वारा यह संकेत देती है कि वह साल भर अच्छे काम करेगी।इस तरह, यह भारत के महानतम नेताओं की सच्ची परंपराओं को बनाए रखेगी जिन्होंने भारत कोआजाद करने में महत्वपूर्ण योगदान दिया।

राष्ट्रवादी कांग्रेस पार्टी (एनसीपी) के नेता

एनसीपी के नेता, जो इसके राष्ट्रीय प्रतिनिधि और अधिकारी भी हैं, निम्नलिखित हैं:
  • राष्ट्रवादी कांग्रेस पार्टी के अध्यक्ष शरद पवार -संसद के सदस्य के रूप में, पवार राज्यसभा के सदस्य हैं जहां वह एनसीपी प्रतिनिधिमंडल का नेतृत्व करते हैं।इन्होंने पहले महाराष्ट्र के मुख्यमंत्री के रूप में कार्य किया।वह एक आधुनिक सामाजिक विचारक हैं और 21 वीं शताब्दी के शुरुआती दशक में अंतर्राष्ट्रीय क्रिकेट परिषद के अध्यक्ष के रूप में अपनी भूमिका के लिए अंतर्राष्ट्रीय स्तर पर जाने जाते हैं।
  • तारिक अनवर, राष्ट्रवादी कांग्रेस पार्टी के महासचिव-तरिक अनवर एक भारतीय राजनेता एवं वर्तमान लोकसभा (16 मई 2014 से) में वे बिहार राज्य की कटिहार लोकसभा सीट से सांसद हैं। वे राष्ट्रवादी कांग्रेस पार्टी के राष्ट्रीय महासचिव हैं।
  • प्रफुल्ल पटेलराष्ट्रवादी कांग्रेस पार्टीके सदस्य के रूप में,प्रफुल्ल पटेल वर्तमान समय मेंमहाराष्ट्र से राज्यसभा के सदस्य हैं। पटेल लोकसभा में भंडारा-गोंदिया संसदीय क्षेत्र का प्रतिनिधित्व कर चुके हैं।वह ऑल इंडिया फुटबॉल फेडरेशन और एशियाई फुटबॉल फेडरेशन के कार्यकारी सदस्य भी रहे हैं।

राष्ट्रवादी कांग्रेस पार्टी की उपलब्धियां

एक राष्ट्रीय राजनीतिक दल के रूप में, राष्ट्रवादी कांग्रेस पार्टी ने देश के राजनीतिक परिदृश्य में कई महत्वपूर्ण योगदान किए हैं। इनमें से कुछ नीचे सूचीबद्ध हैं:
  • राष्ट्रवादी कांग्रेस पार्टी के पास कई प्रमुख फ्रंटल संगठन हैं जैसे एनसीपी के छात्र शाखा, राष्ट्रवादी युवा कांग्रेस, कृषि कार्यकर्ता संगठन, जिसे राष्ट्रवादी किसान सभा कहा जाता है, अन्य संगठन जैसे राष्ट्रवादी युवती कांग्रेस, राष्ट्रवादी छात्र कांग्रेस आदि। राष्ट्रवादी महिला कांग्रेस के अपने सक्रिय संगठन के माध्यम से देश में महिलाओं के लिए एनसीपी ने महत्वपूर्ण योगदान दिया है।
  • कृषि मंत्री के रूप में, शरद पवार को देश में कृषि की कुछ महत्वपूर्ण नीतियों के लिए 'कृषि रत्न' पुरस्कार मिला, जिसने भारत में किसान आत्महत्या की संख्या को कम कर दिया। इन्होंने बजट में खेती के लिए आवंटन में 2% से 4.5% प्रति वर्ष की वृद्धि की। इन्होंने उत्पादकता बढ़ाने के लिए कई योजनाएं शुरू कीं, जैसे मृदाप्रबंधन पर राष्ट्रीय परियोजना, स्वास्थ्य और प्रजनन क्षमता, जूट प्रौद्योगिकी मिशन, राष्ट्रीय कृषि विकास योजना और सामान्य रूप से ग्रामीण विकास।
  • पी. ए. संगमा, 1996 से 1998 तक लोकसभा के अध्यक्ष के रूप में देश के राजनीतिक विकास में एक प्रमुख भूमिका निभाई। इन्होंने लोकसभा में शिष्टताबनाए रखी और एक सख्त अध्यक्ष थे। वह रेड क्रॉस सोसाइटी और युवा हॉस्टल एसोसिएशन ऑफ इंडिया जैसे कई संगठनों से जुड़े हुए हैं। इन्होंने सुविधा से वंचितबच्चों के लिए रात के स्कूल भी स्थापित किए हैं।
  • नागरिक उड्डयन उद्योग में, पटेल ने महत्वपूर्ण बदलाव किए। इन्होंने देश में कई नए विश्व स्तरीय हवाई अड्डों की शुरुआत की, इस क्षेत्र में अभूतपूर्व विकाश की शुरूआत की।घरेलू उड़ान कनेक्टिविटी बढ़ा दी गई है और अंतर्राष्ट्रीय एयर इंडिया उड़ानों को लगातार उड़ान भरने के लिए प्रोत्साहित किया।

संपर्क विवरण

  • एनसीपी की आधिकारिक वेबसाइट http://www.ncp.org.in/
  • एनसीपी के प्रधान कार्यालय का पता- 10, Dr. Bishambhar Das Marg, New Delhi- 110001
  • संपर्क संख्या- फोन: 011- 23314414, 23359218, 23752938
  • फैक्स: +91 11 23352112
  • ईमेल आईडी: [email protected]

राष्ट्रवादी कांग्रेस पार्टी (एनसीपी) लोकसभा और विधानसभा चुनाव परिणाम वर्षवार

लोकसभाविधानसभा
राज्यनवीनतम वर्षसीटें जीतीनवीनतम वर्षसीटें जीती
बिहार2014120100
गुजरात2014020122
केरल2014020112
लक्ष्यदीप 20141--
महाराष्ट्र2014420141
मणिपुर 2014020121
मेघालय2014020132
नागालैंड2014020134
उत्तर प्रदेश2014020121


अंतिम अपडेट 22अक्टूबर, 2018 कोअपडेट किया गया