Track your constituency

Home » Political-Corner
Mamta Banerjee, the BJP Claims ‘Moral Victory’
lok sabha elections 2019

Forty officials from the Central Bureau of Investigation (CBI) knocked on the door of Kolkata Police Commissioner Rajeev Kumar’s residence for a probe in chit fund scams. In a surprising turn on events, the CBI has accused that state police detained and harassed the officials from Central agencies.  Kumar had headed the special investigation team (SIT) probing the Saradha and Rose Valley scams before the Supreme Court handed over the probe to the CBI in 2014. Meanwhile, Mamta Banerjee began her ‘sitting-in protest’  at Esplanade in the heart of the Kolkata to protest the move of the [...]Read more

लोकसभा चुनाव में कितनी सफल साबित होगी पश्चिम बंगाल में पीएम मोदी की रणनीति?
PM Modi

  लोकसभा चुनाव के मद्देनजर पूरे देश में एक सियासी माहौल बना हुआ है। वैसे तो देश के हर छोटे-बड़े राज्य की राजनीति में कई बनते बिगड़ते समीकरण नजर आ रहे हैं लेकिन मौजूदा समय में जो राज्य सबसे खास नजर आता है वो है पश्चिम बंगाल। वैसे तो सभी की नजरें लोकसभा की सबसे ज्यादा 80 सीटों वाले राज्य यूपी पर टिकी हैं लेकिन बीते कुछ दिनों से पश्चिम बंगाल की सियासत भी अपने चरम पर है। ये लड़ाई कोई एक-दो सीटों की नहीं है बल्कि पूरी सत्ता पाने की है। इस लड़ाई में एक तरफ [...]Read more

Priyanka Gandhi – The Differentiator for Lok Sabha Elections 2019
Lok Sabha Elections 2019

One of the oldest theories of contemporary Indian politics comes to an end with the newest member of the Gandhi family joining politics officially. Political pundits had foreseen Priyanka’s entry into politics many times but always proved wrong. To everyone’s surprise, the Congress’s press release dated 23 January 2019 formally announced the appointment of Priyanka Gandhi Vadra as Congress general secretary of Uttar Pradesh East. The move was unexpected as many Congress high command leaders accepted later that they too were not aware of the decision. After 2014 Lok Sabha elections, there were demands for bringing Priyanka [...]Read more

प्रियंका गांधी, उत्तर प्रदेश में कांग्रेस की आखिरी उम्मीद!
Priyanaka Gandhi

  लोकसभा चुनाव आने से ठीक पहले प्रियंका गांधी की भारतीय राजनीति में एंट्री से एक उबाल सा आ गया है। वैसे तो प्रियंका गांधी भारतीय राजनीति का ऐसा नाम जो किसी परिचय का मोहताज नहीं। लेकिन उनके भाई और कांग्रेस अध्यक्ष राहुल गांधी ने प्रियंका को कांग्रेस का महासचिव नियुक्त करके सियासत में एक नई पहचान देने का काम किया है। इतना ही नहीं भाई ने अपनी लाडली बहन को लोकसभा की 80 सीटों वाली यूपी की कमान भी सौंपी है ये वो यूपी है जो किसी भी राजनीतिक पार्टी को दिल्ली की सत्ता तक पहुंचाने [...]Read more

ममता बनर्जी बनाम केन्द्र, सियासत के लिए दांव पर लोकतंत्र
Mamata versus Center

जब राज्य की मुखिया ही लोकतन्त्र को दांव पर रखकर सड़क पर प्रर्दशन करने लगे तो वहां की जनता क्या करेगी? आजकल पश्चिम बंगाल के सियासी पैतरे हर मिनट में बदलते हुए नजर आ रहे है। मौजूदा समय में नरेंद्र मोदी के नेतृत्व वाली केंद्र सरकार और पश्चिम बंगाल की ममता बनर्जी सरकार आमने-सामने है। कारण चाहे कुछ भी लेकिन देश में जिन नेताओं के ऊपर संविधान की रक्षा और लोकतंन्र को बचाने की जिम्मेदारी हो वही सड़क पर उतरकर प्रदर्शन करने लगे वो भी एक ऐसे व्यक्ति के लिए जो भष्टाचार का आरोपी हो, तो हमारा [...]Read more

क्या प्रियंका गांधी बचा पाएंगी कांग्रेस की 70 सालों की सियासत?
Priyanka Gandhi

कांग्रेस ने लोकसभा चुनाव के लिए आखिरकार प्रियंका गांधी के नाम पर तुरूप का इक्का चल दिया है। लंबे समय से कांग्रेस कार्यकर्ताओं की मांग थी कि प्रियंका गांधी को सक्रिय राजनीति में उतारा जाए वो अब पूरी हो चुकी है। इससे पहले प्रियंका गांधी की राजनीति सिर्फ उनके घरेलू क्षेत्र अमेठी और रायबरेली तक ही सीमित रही है। हालांकि अब प्रियंका गांधी के कांग्रेस महासचिव बन जाने के बाद उनका राजनीतिक ग्राफ काफी बढ़ गया है इसके अलावा उन्हें पूर्वी यूपी की कमान भी सौंपी गई है। आपको बता दें कि कांग्रेस की नई नवेली महासचिव [...]Read more

लोकसभा चुनाव 2019 में कितना सफल रहेगा तीसरा मोर्चा?
Lok Sabha elections

 लोकसभा चुनाव जैसे-जैसे नजदीक आता जा रहा है। वैसे-वैसे भाजपा के खिलाफ बन रहे महागठबंधन से एक-एक कर सभी बड़ी राजनीतिक पार्टियाँ अलग होती जा रही हैं। अब यह महागठबंधन उतना ज्यादा मजबूत नजर नहीं आ रहा है। जिसका दावा कुछ महीने पहले तक सभी विपक्षी पार्टियों के द्वारा किया जा रहा था। 2018 के विधानसभा चुनावों के बाद राहुल गांधी द्वारा महागठबंधन को लेकर जिस प्रकार की सियासी रणनीति तैयार की जा रही थी। उसे देखकर लगता था कि आने वाला लोकसभा चुनाव मोदी बनाम महागठबंधन ही होगा। हालाँकि भाजपा के लिए यह चुनाव अभी भी [...]Read more

लोकसभा चुनाव से पहले जनता के सामने एक बार फिर आरक्षण का लॉलीपॉप
Reservation

केन्द्र की सत्ताधारी मोदी सरकार ने सवर्णो को 10 प्रतिशत आरक्षण देने का एक बड़ा और ऐतिहासिक फैसला लिया है। अब मोदी सरकार के इस फैसले को आम जनता से लेकर सियासी दिग्गज और राजनीतिकार अलग-अलग नजरिए से देख रहे हैं। अगर बात करें विपक्ष की तो वह इसे आरक्षण से ज्यादा एक सियासी चाल बता रहा है क्योंकि  केन्द्र में बैठी मोदी सरकार ने लोकसभा चुनाव से ठीक दो महीने पहले ही यह फैसला क्यों लिया। वह अपने कार्यकाल के साढ़े चार साल चुप क्यों रही और 2019 लोकसभा चुनाव से पहले वह तिलक, तराजू और [...]Read more

2019 लोकसभा चुनाव में भाजपा के सामने एक मजबूत विपक्ष के रुप में कांग्रेस
2019 Lok Sabha elections

  2019 का  सेमीफाइनल  2019 का  सेमीफाइनल कहे जाने वाले 2018 के विधानसभा चुनाव भाजपा (एनडीए) के लिए बुरी खबर लेकर आए। या यू कहे कि 2019 में सत्ता के फाइनल से पहले ही भाजपा को मुँह की खानी पड़ी और राहुल गांधी के नेतृत्व में कांग्रेस पाँच में से तीन राज्यों में अपनी सरकार बनाने में सफल रही। विधानसभा चुनाव परिणामों के बाद जिस प्रकार से कांग्रेस एक बार फिर से उभर कर सामने आई है। उससे एक बात तो साफ है कि 2019 के महाभारत की लड़ाई अब कांटे की होगी। फिलहाल इस महाभारत में कौन कौरव [...]Read more

Assembly Election Results 2018 – Modi gets the biggest set back before Lok Sabha Elections 2019
All Four States Results - Assembly Elections 2018 Results

  Five states with around 700 assembly states was seen as the semi final before 2019 Lok Sabha Elections. Results are very shocking for BJP and on the other hand it is revival for Congress who was fighting for survival from last couple of years. Congress won three states with Chhattisgarh a clean sweep, Rajasthan a comfortable win at last and Madhya Pradesh in a nail-biting fight. Despite faces like Modi, Amit Shah, Yogi, Shivraj Singh Chauhan and Dr. Raman BJP was unable to claim their forts.     The final results are Madhya Pradesh Party Won [...]Read more

<