Elections.in Whatsapp Join Us on Whatsapp

Election News and Updates


Search News By Date
Search News By State

Latest Election News and Updates

  • राम मंदिर निर्माण पर संतों के खुलकर सामने आने के बाद, क्या करेगी मोदी सरकार

    अयोध्या में राम मंदिर निर्माण को लेकर हलचल दिन-प्रतिदिन बढ़ती जा रही है। कभी अध्यादेश लाने की मांग हो रही है तो कभी पर्सनल मेंबर बिल लाने की बात की जा रही है।

    अखिल भारतीय संत समिति की तरफ से दिल्ली में दो दिनों तक चले संतों के सम्मेलन में अयोध्या में भव्य राम मंदिर बनाने को लेकर सरकार से मांग की गई है। समिति के अध्यक्ष जगदगुरु रामानांदाचार्य हंसदेवाचार्य ने बाबत धर्मादेश पढ़ कर केंद्र और यूपी की बीजेपी की सरकार को अयोध्या में राम मंदिर निर्माण के लिए कानून बनाने को कहा।

    वैसे तो संतों के भीतर राम मंदिर के मुद्दे को लेकर तेवर तल्ख थे। लेकिन, सरकार के काम-काज को लेकर कई मुद्दों पर वे संतुष्ट भी दिखे। यानी राम मंदिर मुद्दे पर आगे बढ़ने के लिए सरकार पर दबाव बनाने की कोशिशों के बावजूद संतों की उम्मीद भी बीजपी की ही सरकार से दिखी।

     

     

    2018-11-05 06:53:07 PM
  • मिजोरम विधानसभा चुनाव 2018 : कांग्रेस को लगा झटका, विधानसभा स्पीकर कांग्रेस को छोड़ भाजपा में हुए शामिल

    मिजोरम विधानसभा चुनाव 2018: मिजोरम में जल्द ही विधानसभा चुनाव होने वाले हैं ऐसे में चुनाव से पहले कांग्रेस पार्टी को एक बड़ा झटका तब लगा जब सोमवार को मिजोरम विधानसभा के अध्यक्ष हिफेई ने कहा कि उन्होंने अपने पद, सदन और कांग्रेस से इस्तीफा दे दिया है। उन्होंने कहा कि उन्होंने अपना इस्तीफा विधानसभा उपाध्यक्ष आर. लालरीनवमा को सौंप दिया है और जिन्होंने उसे स्वीकार कर लिया है। हिफेई ने कहा कि उन्होंने सत्तारूढ़ कांग्रेस पार्टी से भी इस्तीफा दे दिया है। इसके बाद वे भारतीय जनता पार्टी में शामिल हो गए हैं।

    हिफेई एक अनुभवी नेता हैं, वे 2013 में पलक विधानसभा क्षेत्र से चुनकर 40 सदस्यीय विधानसभा में पहुंचे थे। पूर्वोत्तर में मिजोरम एकमात्र कांग्रेस शासित राज्य है। मिजोरम में 28 नवंबर को विधानसभा चुनाव होने हैं। ऐसे में हिफेई का कांग्रेस छोड़कर भाजपा में शामिल होना कांग्रेस के लिए एक बड़ा झटका साबित हो सकता है। लेकिन ऐसा माना जा रहा है कि उन्होंने ऐसा भाजपा में शामिल होने के लिए किया है।  

    भाजपा के एक नेता ने 4 नवंबर को दावा किया था कि वरिष्ठ नेता हिफेई भाजपा में शामिल होंगे। भाजपा नेता ने दावा करते हुए कहा था, 'वह (हिफेई) पहले स्पीकर के पद से अपना इस्तीफा देंगे और फिर कांग्रेस की प्राथमिक सदस्ता से इस्तीफा दे देंगे। इसके बाद वह हमारी पार्टी में शामिल हो जाएंगे।' भाजपा नेता ने आगे बताया था कि हिफेई ने हाल ही में भाजपा के केंद्रीय नेताओं से मुलाकात की है।

     

    2018-11-05 06:51:47 PM
  • मध्यप्रदेश विधानसभा चुनाव: मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान आज बुधनी से दाखिल करेंगे नामांकन

    मध्यप्रदेश विधानसभा चुनाव:मध्यप्रदेश विधानसभा चुनाव की तैयारियों में सत्तारुढ़ दल भाजपा ने आगे रहते हुए अपने 176 विधानसभा उम्मीदवारों की पहली सूची शुक्रवार को जारी कर दी थी। जिसमें मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान को फिर से उनकी गृह सीट बुधनी से मैदान में उतारने का निर्णय लिया गया है। जहां एक ओर चुनाव प्रचार अपने चरम पर है वहीं नामांकन का दौर भी अब शुरू हो गया है। इसी कड़ी में मुख्यमंत्री बुधनी विधानसभा से आज नामांकन दाखिल करेंगे।

    आपको बता दें कि शिवराज सिंह चौहान सबसे पहले बुधनी से 1990 में विधायक चुने गए थे। इसके बाद शिवराज सिंह चौहान 1996, 1998, 1999 और 2004 के लोकसभा चुनाव विदिशा से लगातार जीतते रहे। साल 2005 उनके लिए बदलाव लेकर आया जब उन्हें मध्यप्रदेश में बाबूलाल गौर को हटाकर मुख्यमंत्री बनाया गया। इसके बाद 2006 में अपनी पुरानी सीट बुधनी से उपचुनाव जीतकर वह प्रदेश विधानसभा के सदस्य बने।

    शिवराज सिंह चौहान ने लगातार 2008 और 2013 के विधानसभा चुनाव में बुधनी सीट पर जीत हासिल की। अब 2018 के विधानसभा चुनाव, जिन्हें 2019 के लोकसभा चुनाव का सेमीफाइनल कहा जा रहा है, में भाजपा ने एक बार फिर उन्हें बुधनी से उम्मीदवार घोषित किया है।

     

    2018-11-05 06:49:47 PM
  • मध्यप्रदेश विधानसभा चुनाव 2018:भाजपा ने जारी की दूसरी सूची, 17 उम्मीदवारों के नाम घोषित

    मध्यप्रदेश विधानसभा चुनाव 2018:भाजपा ने मध्यप्रदेश विधानसभा चुनाव के लिए अपनी दूसरी सूची जारी कर दी है। दूसरी सूची में भाजपा ने 17 उम्मीदवारों के नामों का ऐलान किया है। कुल मिलाकर अब तक भाजपा ने 193 उम्मीदवारों की घोषणा की है। जिसमें 18 महिलाओं को भी टिकट दिया गया है। भाजपा ने दूसरी सूची में पूर्व मुख्यमंत्री बाबूलाल गौर की गोविंदापुरा सीट पर अभी किसी भी प्रत्याशी का नाम घोषित नहीं किया। इस सूची में भी भाजपा ने अपने चार मौजूदा विधायकों के टिकट काटे हैं। गौरतलब है कि शुक्रवार को भाजपा ने 177 उम्मीदवारों के नामों की घोषणा की थी।

    आपको बता दें कि दूसरी सूची में भाजपा ने सांसद अनूप मिश्रा को भितरवार से, जबेरा से धर्मेंद्र लोधी, जबलपुर पश्चिम से हरेंद्र जीत सिंह बब्बू, मुलताई से राजा पवार, कुरवई से हरि सप्रे, उज्जैन दक्षिण से मोहन यादव, कोलारस से वीरेंद्र रघुवंशी, बासौदा से लीना जैन, पेटलावाद से निर्मला भूरिया, बिछिया से पंडित धुर्वे, बडनगर से मुकेश पांडा, बीजावर से पुष्पेंद्र पाठक, जबलपुर उत्तर से शरद जैन, ब्यावरा से नारायण पंवार, अनूपपुर से रामलाल रौतेल, शुजालपुर से इंदर सिंह परमार, जबलपुर दक्षिण से मोहन यादव, निवास से रामप्यारे कुलस्ते को टिकट दिया है।

     

    2018-11-05 06:47:45 PM
  • छत्तीसगढ़ विधानसभा चुनाव: भाजपा और कांग्रेस को दलित विरोधी बताकर क्या लाभ उठा पाएगी बसपा

    छत्तीसगढ़ विधानसभा चुनाव: छत्तीसगढ़ के आगामी विधानसभा चुनाव में बसपा और राज्य के पूर्व मुख्यमंत्री अजित जोगी की पार्टी जनता कांग्रेस छत्तीसगढ़ (जेसीसी) से गठबंधन कर चुनावी मैदान में है। छत्तीसगढ़ में बसपा प्रमुख ने भाजपा और कांग्रेस को दलित विरोधी बताया है। साथ ही यह भी कहा है कि सत्ताधारी भाजपा और कांग्रेस ने आरक्षण को निष्प्रभावी बनाने की दिशा में काम किया है। कुल मिलाकर बसपा राज्य की इन दोनों प्रमुख पार्टियों को दलित विरोधी बताकर अपना उल्लू सीधा करने में लगी हुई है।

    छत्तीसगढ़ का विधानसभा चुनाव इस बार बसपा और जेसीसी के बीच गठबंधन हो जाने से त्रिकोणीय हो गया है। राज्य में पहले मुख्य मुकाबला कांग्रेस और भाजपा के बीच ही हुआ करता था। चुनावों से कुछ महीने पहले बसपा-जेसीसी के बीच हुए गठबंधन ने दोनों ही बड़ी पार्टियों के लिए मुश्किलें पैदा कर दी हैं। ऐसा कहा जा रहा है कि इन चुनावों में यह गठबंधन अगर बेहतर प्रदर्शन कर जाता है तो भले ही सरकार बनाने की स्थिति में न हो लेकिन किंगमेकर की भूमिका में जरूर आ जाएगा। अगर चुनाव के नतीजे आने के बाद दोनों ही बड़ी पार्टियां जादुई आंकड़े से दूर रह जाती हैं तो ऐसी स्थिति में बीएसपी-जेसीसी का यह गठबंधन ही राजनीति की दशा और दिशा तय कर सकता है।

     

     

    2018-11-05 06:46:16 PM

  • छत्तीसगढ़ विधानचुनाव 2018: नक्सलवाद में क्रांति देखने वाली कांग्रेस पर अमित शाह का जवाबी हमला

    छत्तीसगढ़ विधानचुनाव 2018: भारतीय जनता पार्टी के राष्ट्रीय अध्यक्ष अमित शाह ने कांग्रेस पर जवाबी हमला बोलते हुए कहा कि नक्सलवाद में क्रांति देखने वाली कांग्रेस को अब जनता ही जवाब देगी। 

    छत्तीसगढ़ में एक चुनावी सभा को सम्बोधित करते हुए अमित शाह ने कहा कि कांग्रेस छत्तीसगढ़ के नक्सलवाद को क्रांति की संज्ञा देती है, तो वह देश की जनता को स्पष्ट करे कि यह कैसी क्रांति है। उन्होंने कहा कि सत्ता के लिए नक्सलवाद को क्रांति कहकर समर्थन देने वाले कांग्रेसी समझ ले कि गरीब की भूख दूर करना क्रांति है, जोकि डॉ.रमन सिंह के नेतृत्व में भारतीय जनता पार्टी की सरकार ने किया है।

    उन्होंने कहा कि आयुष्मान भारत योजना के माध्यम से पांच लाख का नि:शुल्क ईलाज गरीबों को देना क्रांति है। क्रांति तब होती है जब किसान के फसल का उचित समर्थन मूल्य दिया जाए। क्रांति तब होती है जब मेहनतकश, मजदूर, किसान के हक में डाका डालने वाले बिचौलिए समाप्त हो जाएं। छत्तीसगढ़ में भाजपा की सरकार ने विकास की ऐसी ही क्रांति लाई है। उन्होंने कहा कि जनता तय करे कि वे नक्सलवाद में क्रांति देखते हैं या विकास में।

     

    2018-11-05 06:44:41 PM
  • इस बार दिवाली मनाने केदारनाथ धाम जाएंगे पीएम नरेंद्र मोदी

    प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी दीपावली के दिन (7 नवंबर) केदारनाथ धाम पहुंचेंगे। मोदी सुबह 9.15 बजे से 11.15 तक धाम में रहेंगे। इस दौरान मंदिर में पूजा-अर्चना और दर्शन करेंगे। जानकारी के मुताबिक धाम के करीब 400 मीटर उंचाई पर बनी ध्यान गुफा श्रद्धालुओं के लिए एक अतिरिक्त आकर्षण का केंद्र होगी जो प्रधानमंत्री के दौरे के दौरान प्रदर्शित की जाएगी।

    खबरों के मुताबिक अपनी इस यात्रा के दौरान पीएम मोदी सरहद पर जवानों से मुलाकात भी करेंगे। पीएम मोदी इस दौरान केदारनाथ में पूरी हो चुकी परियोजनाओं का उद्घाटन भी कर सकते हैं।

    बीते डेढ़ वर्ष में तीसरी बार केदारनाथ पहुंच रहे प्रधानमंत्री मोदी के कार्यक्रम को लेकर तैयारियां जोरों पर चल रही हैं। एसपीजी की टीम गुप्तकाशी पहुंच गई है। यहां साफ-सफाई पर विशेष ध्यान दिया जा रहा है। उनका दिवाली का ये पूरा कार्यक्रम करीब 2 घंटे का हो सकता है।

     

    2018-11-05 06:31:11 PM
  • सबरीमाला मंदिर: आज शाम पांच बजे विशेष पूजा के लिए खुलेंगे सबरीमाला मंदिर के कपाट

    सबरीमाला मंदिर के कपाट आज शाम पांच बजे कड़ी सुरक्षा के बीच विशेष पूजा के लिए खोले जाएंगे। मंदिर के कपाट आज शाम पांच बजे खुलेंगे और कल रात 10 बजे बंद किए जाएंगे। जानकारी के मुताबिक, मुख्य पुजारी और तंत्री एक साथ मिलकर मंदिर का कपाट खोलेंगे और दीप जलाएंगे।

     सुप्रीम कोर्ट के आदेश के बाद पिछले महीने भी सबरीमाला के कपाट खुले थे लेकिन भारी विरोध के बाद 10 से 50 वर्ष की उम्र की महिलाओं को मंदिर में प्रवेश नहीं मिल पाया था। इसी को ध्यान में रखते हुए इस बार भारी सुरक्षा व्यवस्था की गई है। 2,300 पुलिसकर्मियों ने मंदिर परिसर को अपने नियंत्रण में ले लिया है।

    मंदिर के पुजारियों ने धमकी दी है कि अगर 10 से 50 वर्ष की उम्र की महिलाएं मंदिर में प्रवेश करने की कोशिश करेंगी तो सबरीमाला के कपाट बंद कर दिए जाएंगे।

     

    2018-11-05 02:31:49 PM
  • दिल्ली में खतरनाक स्तर पर पहुंचा प्रदूषण, एयर क्वालिटी इंडेक्स 700 के पार

    दिवाली से दो दिन पहले राजधानी दिल्ली में प्रदूषण अपने खतरनाक स्तर पर पहुंच गया है। देश की राजधानी दिल्ली में लोगों के लिए सांस लेना तक मुश्किल हो गया है। पिछले कई दिनों से दिल्ली की हवा बेहद जहरीली हो चुकी है। सोमवार की सुबह से हवा की स्थिति कुछ ज्यादा ही खराब है। दिल्ली स्मॉग की मोटी चादर में लिपटी हुई नजर आ रही है।

    बताया जा रहा है कि धुंध की वजह से प्रदूषक तत्व वातावरण में काफी नीचे हैं। दिल्ली के मंदिर मार्ग में एयर क्वालिटी इंडेक्स 707 रहा वहीं मेजर ध्यानचंद स्टेडियम में 676 और जवाहर लाल नेहरु स्टेडियम पर 681 है।

    आपको बता दें कि प्रदूषण को कम करने के लिए दिल्ली में निर्माण गतिविधियों पर प्रतिबंध लगाने के साथ-साथ एक से 10 नवंबर के बीच ईंधन के रूप में कोयला और बायोमास के इस्तेमाल पर रोक लगा दी गई है। दिल्ली प्रदूषण नियंत्रण कमेटी ने सरकारी एजेंसियों को ये निर्देश जारी किए हैं जिनमें 'हॉट स्पॉट' में गश्त में तेजी लाने के साथ ही प्रदूषण फैलाने वाले वाहनों को बर्दाश्त करना भी शामिल नहीं है।

     

    2018-11-05 02:25:36 PM
  • Madhya Pradesh Assembly Polls: Congress releases second list of 17 candidates

    On Sunday the Madhya Pradesh Congress declared its second list of 17 candidates for the polls to the 230-member state Assembly slated for 28 November. The names of Congress state unit chief Kamal Nath and poll campaign committee in-charge Jyotiradtiya Scindia are not on the list. They are touted to be frontrunners for the chief minister's post if the party wins. The first list comprising 155 names was released late Saturday night and it includes that of 21 women and 24 fresh faces. It has struck a fine balance between supporters of Scindia and former chief minister Digvijay Singh, sources said.

    The party, on expected lines, renominated 46 MLAs while dropping Govardhan Upadhyay, Shakuntala Khatik and Manoj Kumar, sitting MLAs from Sironj, Kerera and Kotma respectively. They have been replaced by Ashok Tyagi, Jaswant Jatav and Sunil Saraf. Interestingly, the Congress has nominated Dr. Hiralal Alawa, convener of the tribal political outfit Jai Adivasi Yuva Shakti (JAYS), from the Manawar seat in Dhar district. Alawa, a former assistant professor at Delhi's All India Institute of Medical Sciences, was unavailable for comment. The Congress-JAYS were in talks for an alliance, especially in the Nimar-Malwa region where the BJP has a formidable following.

    Former chief minister Digvijay Singh's son Jaivardhan, a sitting MLA, brother Lakshman Singh and nephew Priyavrat Singh have been given tickets from Raghogarh, Chachoda and Khilchipur seats respectively. Similarly, Scindia loyalists Hemant Katare and KK Singh have been nominated from Ater and Jaora seats respectively.

    Four former MPs, comprising former Union minister Suresh Pachouri, Vijaylaxmi Sadho, Sajjan Singh Verma and Surendra Singh Thakur have been nominated from Bhojpur, Maheshwar, Sonkuth and Sehore respectively. Leader of Opposition in the state and son of former chief minister late Arjun Singh, Ajay Singh will fight from Chruhat. Sanjay Sharma, Padma Shukla and Abhay Mishra, who recently joined the Congress after leaving the ruling BJP in Madhya Pradesh, have been given tickets as well. The party has fielded Chandra Prakash Ahirwar from Guna (reserved) Assembly seat and Ram Niwas Rawat from Vijaypur. The Congress is expected to announce the remaining candidates shortly, a party leader said. The BJP stole a march on the Congress Friday by releasing its first list of 177 candidates for the assembly polls, fielding Chief Minister Shivraj Singh Chouhan from Budhni seat.

    The counting of votes will be taken up on 11 December.

    2018-11-05 01:43:09 PM
  • Chhattisgarh govt didn't build any hospitals in Bastar for security forces getting injured in anti-Naxal operations: Raj Babbar

    Raj Babbar, the Congress chief for Uttar Pradesh on Saturday hit out at Chhattisgarh Chief Minister Raman Singh, a doctor by qualification, for pushing the state's "health" into "critical condition". "Chhattisgarh ranked 20th in the list of 21 states for providing health services, and posts of doctors and nurses were lying vacant," the Congress leader said. "The chief minister has dashed the hopes of people who were thinking that health facilities would improve after a doctor became chief minister. Health facilities are pathetic in Chhattisgarh," Babbar said in a press conference in Raipur.

    "A doctor chief minister has pushed the state's health services into the ICU during his 15-year rule," Babbar alleged.He said the Raman Singh government had failed to build a single hospital in Bastar region for security forces getting injured in anti-Naxal operations. "These injured jawans have to be airlifted to Raipur or require admission in private medical facilities," he added.

    Without naming Jogi, Babbar said that the "collector", referring to Jogi's past as an IAS official, and Raman Singh had entered into a "tie up" for the forthcoming polls. Chhattisgarh goes to polls in two phases on 12 November and 20 November and counting of votes will be taken up on 11 December.

    He also said that the Naxal issue in Chhattisgarh will not be resolved by bullets but through talks. "The Congress party had lost its state leadership (in Naxal attack in May 2013). BJP keeps on accusing the Congress of directly or indirectly backing Naxals which reflects BJP's mental sickness. How can the Congress party which lost its senior (state) leadership in a Naxal attack take their side," Babbar asked.

     

    2018-11-05 01:41:03 PM
  • Chhattisgarh Assembly polls 2018: 'casteist' BJP, Congress are trying to 'abolish' reservation system – Mayawati

    BSP supremo Mayawati, on Sunday, accused the BJP and the Congress of having a "casteist mentality" and trying to "abolish" the reservation system saying "casteist". BSP is contesting this month's Chhattisgarh Assembly polls in alliance with former chief minister Ajit Jogi's Janta Congress Chhattisgarh.

    BSP chief alleged that both the ruling Bharatiya Janata Party (BJP) and the opposition Congress had worked towards making reservation "ineffective" and were trying to gradually "abolish" it, she was addressing a rally  Taraud village in the Akaltara constituency in Janjgir-Champa. "Dalits, Adivasis and the other backward castes people have been getting the benefits of reservation, particularly in government  jobs, as a result of the efforts of BR Ambedkar," Mayawati said.

    "Right from the beginning, those parties had a casteist mentality...they have worked towards making reservation ineffective and (are trying to) gradually abolish it," the former Uttar Pradesh chief minister said. The BSP is contesting the election — to be held in two phases on 12 and 20 November — in alliance with the JCC-J and the Communist Party of India (CPI). Of the 90 Assembly seats in Chhattisgarh, the BSP will contest 33, the JCC-J 55 and the CPI two. Jogi has been named as the chief ministerial candidate of the coalition. His daughter-in-law, Richa Jogi, is contesting from the Akaltara seat on a BSP ticket.

    "The Congress was in power for a long time in the country. Now, the incumbent BJP governments at the Centre and in the state have failed to fully comply with the quota norms as provisioned in the reservation policy. A similar situation is prevailing in Chhattisgarh as well," the BSP chief said.

    She also accused the Congress and the BJP of having an "internal nexus" to make reservations in job promotions for Dalits and tribals "ineffective up to a great extent"."If the coalition of the BSP, JCC-J and CPI comes to power in Chhattisgarh, it will do its best to ensure that Adivasis, Dalits, backwards, minorities, labourers and farmers get their rights.

     "Uplift of the poor, farmers, labourers, tribals and Dalits is only possible in the state when this alliance comes to power. They will be able to lead a life with respect and dignity, besides Naxalism will also be contained," Mayawati said.

     

    2018-11-05 01:39:18 PM
  • मध्यप्रदेश विधानसभा चुनाव: बाबूलाल के बदलते सुर, बोले पार्टी का वफादार हूँ

    मध्यप्रदेश विधानसभा चुनाव 2018:मध्यप्रदेश विधानसभा चुनाव में टिकट बटवारे को लेकर भाजपा और कांग्रेस में घमासान मचा है। ऐसे में किसी भी पार्टी के अन्दर से बगावती सुर का निकलना पार्टी के लिए शुभ संकेत नहीं है। आपको बता दें कि भोपाल की गोविंदपुरा सीट पर भाजपा ने अभी अपने उम्मीदवार का नाम घोषित नहीं किया है। यह सीट पूर्व मुख्यमंत्री बाबूलाल गौर की परंपरागत सीट है। पहली सूची में गोविंदपुरा का नाम नही होने से पार्टी में विरोध शुरू हो गया था और बाबूलाल ने पार्टी छोड़ने की धमकी दी और इसके साथ ही उन्होंने कहा कि यदि भाजपा ने टिकट नहीं दिया तो मैं हुजूर सीट से निर्दलीय चुनाव लड़ने पर विचार करूंगा।

    हांलाकि मौजूदा समय में आ रही खबरों के मुताबिक बाबूलाल नें अपने द्वारा दिए गए बयानों को गलत बताते हुए कहा है कि मैं पार्टी का वफादार नेता हूँ। अगर भाजपा से टिकट मिला तो चुनाव लड़ूंगा अगर टिकट नहीं मिला तो चुनाव नहीं लडूंगा। निर्दलीय लड़ने का सवाल ही नहीं उठता पार्टी कहेगी तो चुनाव लड़ूंगा। इस पार्टी ने मुझे शून्य से मुख्यमंत्री पद तक पहुंचाया। 13 साल मंत्री रहा। फिर मुख्यमंत्री रहा और नेता प्रतिपक्ष रहा हूँ। मोदी जी का आशीर्वाद है। उनके आशीर्वाद का मुझे फायदा मिलेगा। आपकों बता दे कि सियासत में बयान बदलने की राजनीति भी बहुत पुरानी है।

     

    2018-11-05 12:43:24 PM
  • मध्यप्रदेश विधानसभा चुनाव 2018: बसपा को 230 में से 32 सीटों पर जीत की उम्मीद

    मध्यप्रदेश विधानसभा चुनाव 2018: मध्यप्रदेश विधानसभा चुनाव में लगभग सभी राजनीतिक पार्टियां जीत के लिए कड़ी मेहनत कर रही हैं। ऐसे में बसपा की प्रदेश इकाई के अध्यक्ष प्रदीप अहिरवार ने दावा किया है कि राज्य में इस बार उनकी पार्टी अपने 34 साल के इतिहास का सबसे बेहतर प्रदर्शन करेगी। उन्हें उम्मीद है कि बसपा कम से कम 230 सीटों में से 32 सीटों पर जीत हासिल करेगी और सत्ता में अहम भूमिका निभाएगी। आपको बता दें कि मध्यप्रदेश में कुल 230 सीटें हैं। इसके अलावा एक नॉमिनेटेड सीट है।

    वर्ष 2008 के राज्य विधानसभा चुनाव में पार्टी का वोट प्रतिशत 8.97 प्रतिशत रहा था, जो 2013 में करीब ढाई प्रतिशत गिरकर 6.29 प्रतिशत रह गया। अहिरवार ने इस बार पार्टी को 10 प्रतिशत से अधिक वोट मिलने का दावा किया।

    प्रदेश अध्यक्ष अहिवार ने बताया, साल 2003 में बसपा ने राज्य विधानसभा चुनाव में दो सीटों पर जीत हासिल की थीं। 2008 में सात और 2013 में चार सीटें जीती थीं। इस बार प्रदेश में 15 साल से सत्ता पर काबिज भाजपा के खिलाफ जबरदस्त सत्ता विरोधी लहर और दलित एकता के चलते हम अच्छी जीत की स्थिति में हैं। आपको बता दे कि बसपा को दलित वोटों पर ज्यादा भरोसा है जिसके सहारे वह चुनावी वैतरणी को पार करने की सोच रही हैं।  

     

    2018-11-05 11:54:19 AM
  • मध्य प्रदेश विधानचुनाव 2018: राजपुर सीट से बीजेपी के उम्मीदवार नेता देवी सिंह पटेल का निधन

    मध्य प्रदेश विधानचुनाव 2018: मध्य प्रदेश विधानचुनाव 2018 से पहले एक बीजेपी को एक बड़ा झटका लगा है। जिसमें राजपुर सीट से बीजेपी के उम्मीदवार नेता देवी सिंह पटेल का निधन हो गया है। बताया जा रहा है कि सोमवार सुबह जब वे अपने घर में सो रहे थे तभी उन्हें दिल का दौरा पड़ा जिससे उनका निधन हो गया।

    55 साल के देवी सिंह की मौत से पूरे जिले में शोक की लहर दौड़ गई है। बीजेपी ने देवी सिंह पटेल को बड़वानी जिले के राजपुर विधानसभा सीट से अपना उम्मीदवार बनाया था। वहीं कांग्रेस ने इस सीट से अपने उम्मीदवार के रुप में बाला बच्चन को टिकट दिया है।

    देवी सिंह पटेल राजपुर से 4 बार विधायक रह चुके हैं। वे राज्यमंत्री भी रह चुके हैं।  1989 में देवी सिंह पटेल सबसे पहली बार कांग्रेस के प्रत्याशी दौलत सिंह वास्कले को हराकर विधानसभा पहुंचे थे।

    मध्य प्रदेश की 230 विधानसभा सीटों पर एक ही चरण में 29 नवंबर को मतदान होना है। जहां बीजेपी ने अभी तक 177 सीटों के लिए अपने उम्मीदवारों के नामों की घोषणा की है वहीं कांग्रेस की ओर से 155 प्रत्याशियों की सूची जारी की गई है।

    मध्य प्रदेश के चुनावी परिणाम अन्य 4 राज्यों के साथ ही 11 दिसंबर को आएंगे।

    2018-11-05 11:53:04 AM
  • धनतेरस 2018: जानिए इस धनतेरस कैसे खोलें अपनी किस्मत का दरवाजा

    दिवाली से पहले धनतेरस का विशेष महत्व होता है। इस दिन धन और आरोग्य के लिए भगवान धन्वंतरि और कुबेर की पूजा की जाती है। इस साल धनतेरस 5 नंवबर को मनाया जाएगा। मान्यता है कि धनतेरस के दिन कुछ खास चीजों को खरीदना काफी शुभ माना जाता है। इन शुभ चीजों को खरीदने से घर परिवार में सुख शांती बनी रहती है और धन लाभ भी होता है। आइए जानें कि धनतेरस के दिन किन-किन चीजों को खरीदना शुभ माना जाता है।

    वैसे तो धनतेरस के दिन सोना, चांदी खरीदना काफी शुभ माना जाता है। धनतेरस पर कुबेर यंत्र खरीदना भी शुभ माना जाता है। धनतेरस के दिन तांबे की वस्तुएं या बर्तन लाने का भी काफी महत्व रहता है। धनतेरस के दिन झाडू भी खरीदी जाती है। मान्यता है कि इस दिन झाडू खरीदने से गरीबी दूर होती है। साथ ही नई झाडू से नकारात्मक ऊर्जा दूर हो जाती है और घर में लक्ष्मी का वास होता है। धनतेरस के दिन भगवान गणेश और देवी लक्ष्मी की मूर्ति भी घर में लानी चाहिए। धनतेरस के दिन शंख खरीदने को भी काफी शुभ माना जाता है।

     

    2018-11-05 11:36:22 AM
  • सीएम योगी का दीवाली तोहफा- अयोध्या में सरयू नदी के तट पर बनेगी भगवान राम की प्रतिमा

    सीएम योगी अयोध्या में सरयू नदी के तट पर भगवान राम की प्रतिमा के निर्माण की योजना बना रहे हैं। इसकी लंबाई 151 मीटर हो सकती है। वहीं स्टैच्यू ऑफ यूनिटी की लंबाई 182 मीटर है।

    अयोध्या नगर निगम के महापौर ऋषिकेश उपाध्याय ने पीटीआई-भाषा से कहा, 'अयोध्या में सरयू नदी के तट पर भगवान राम की 151 मीटर लंबी प्रतिमा बनाने का प्रस्ताव है। उत्तर प्रदेश के मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ देव दीपावली के अवसर पर इसकी घोषणा कर सकते हैं।' बीजेपी नेता उपाध्याय ने कहा, ‘‘जहां प्रतिमा की स्थापना की जाएगी, उस जगह का चुनाव मिट्टी परीक्षण के बाद किया जाएगा। संत तुलसीदास घाट के आसपास प्रतिमा बनाये जाने की संभावना है। अधिकारी दो-तीन स्थलों को देख रहे हैं, जिनमें से वे सबसे अच्छी जगह का चुनाव करेंगे।’

    आपको बता दें कि गुजरात में नर्मदा किनारे 182 मीटर ऊंची सरदार वल्लभभाई पटेल की प्रतिमा के अनावरण के 2 दिन बाद ही यह खबर आई कि योगी आदित्यनाथ अयोध्या में सरयू के किनारे भगवान राम की 151 मीटर ऊंची तांबे की प्रतिमा बनवाएंगे। ऐसे में इन कयासों को भी बल मिल रहा है कि योगी सधे पांव मोदी से कदम मिला रहे हैं।

     

     

    2018-11-05 10:06:03 AM
  • मध्यप्रदेश विधानसभा चुनाव 2018: टिकट कटने पर भड़के बीजेपी विधायक मथुरा लाल डामर

    मध्यप्रदेश विधानसभा चुनाव 2018:भाजपा ने शुक्रवार को मध्यप्रदेश विधानसभा से अपने प्रत्याशियों के नामों घोषणा की। ऐसे में जिन प्रत्याशियों को पार्टी की तरफ से टिकट नहीं मिला, वे लोग अपनी ही पार्टी का विरोध करने लगे। ऐसा ही कुछ तब देखने को मिला जब रतलाम ग्रामीण विधायक पद के प्रत्याशी के रुप में दिलीप मकवाना का नाम आने के बाद दिलीप मकवाना अपने साथियों के साथ वर्तमान विधायक मथुरा लाल डामर के घर उनका आशीर्वाद लेने पहुंचे। लेकिन उनके वहां जाते ही, मथुरा लाल डामर ने उनको खूब खरी-खोटी सुनाई। उन्होंने कहा कि तुम कार्यकर्ता नहीं कर्मचारी हो और डेढ़ करोड़ रुपए देकर टिकट लाए हो भाजपा कार्यकर्ता को टिकट देने की बात करती है पर कार्यकर्ता को टिकट न देकर एक कर्मचारी को टिकट दिया है।

    डामर ने दिलीप मकवाना को अपने घर तक में नहीं घुसने दिया और खड़े-खड़े ही वहां चलता कर दिया। वहीं दुसरी ओर टिकट न मिलने से गुस्साए आगर मालवा- सुसनेर विधानसभा क्षेत्र से भाजपा के पूर्व विधायक और गौ संवर्धन बोर्ड के उपाध्यक्ष संतोष जोशी ने टिकट वितरण में उपेक्षा के बाद बगावत का बिगुल फूंक दिया और निर्दलीय चुनाव लड़ने का एलान कर दिया।

    वहीं, टिकट की मांग कर रहे पूर्व विधायक जोशी ने निर्दलीय चुनाव लड़ने का एलान कर राजनीतिक गलियारों में सनसनी मचा दी है।

     

    2018-11-05 10:04:47 AM
  • मध्यप्रदेश विधानसभा चुनाव 2018 : शिवराज सिंह चौहान के घर में बगावत, साले संजय सिंह ने थामा कांग्रेस का हाथ

    मध्यप्रदेश विधानसभा चुनाव 2018:मध्यप्रदेश विधानसभा चुनाव में भाजपा और कांग्रेस के बीच शह-मात का खेल चल रहा है। इस खेल में आज कांग्रेस ने बड़ा दांव चला है। दिल्ली में आज सीएम शिवराज सिंह के साले संजय सिंह, पीसीसी चीफ कमलनाथ, ज्योतिरादित्य सिंधिया और प्रदेश प्रभारी दीपक बावरिया की मौजूदगी में कांग्रेस में शामिल हो गए हैं। खुद कमलनाथ ने इसका औपचारिक ऐलान किया है।

    इस मौके पर कांग्रेस में शामिल हुए सीएम शिवराज सिंह चौहान के साले संजय सिंह ने शिवराज सिंह पर जमकर निशाना साधा। उन्होंने कहा कि, प्रदेश में बेरोजगारी बढ़ी है। भाजपा में नामदारों को उतारा जा रहा है, वहीं नामदारों को मौका नहीं दिया जा रहा है। पार्टी में वंशवाद फल-फूल रहा है।

     

    2018-11-05 10:03:22 AM
  • पीएम मोदी ने छोटे व्यापारियों को दिया दिवाली का बड़ा तोहफा

    प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने शुक्रवार को छोटे कारोबारियों को दिवाली का बड़ा तोहफा दिया। उन्होंने सूक्ष्म-लघु और मझोले (एमएसएमई) क्षेत्र के कारोबारियों के लिए 59 मिनट में एक करोड़ रुपये का लोन देने वाले पोर्टल को लॉन्च किया। इसके साथ ही कहा कि वह आज इस विशेष आयोजन में लघु उद्योग सेक्टर के लिए सरकार द्वारा लिए गए 12 बड़े फैसलों की घोषणा करेंगे। पिछले कुछ हफ्तों से सरकार के कई मंत्रालयों ने मिलकर ये फैसले लिए हैं। ये 12 फैसले देश के सूक्ष्म, लघु एवं मध्यम उद्यम के लिए दीपावली का उपहार तो हैं ही, देश में छोटे उद्योगों के एक नए युग, एक नए अध्याय की भी शुरुआत करेंगे।

    59 मिनट में ऋण प्रदान करने वाले इस पोर्टल के जरिये जीएसटी पंजीकृत हर एमएसएमई को एक करोड़ रुपये तक के नए कर्ज या इन्क्रीमेंटल ऋण पर ब्याज में 2 प्रतिशत की छूट दी जाएगी। अब जीएसटी से जुडऩा और कर भरना एमएसएमई की ताकत बनेगा और ब्याज में 2 प्रतिशत की छूट दिलवाएगा।

     

    2018-11-05 10:00:37 AM
  • छत्तीसगढ़ में महागठबंधन से बिगड़ सकता है भाजपा-कांग्रेस का खेल

    छत्तीसगढ़ विधानसभा चुनाव:छत्तीसगढ़ विधानसभा चुनाव में महागठबंधन नए सियासी समीकरण बनाने के लिए चुनावी मैदान में पूरी तैयारी के साथ उतर चुका है। यह महागठबंधन छत्तीसगढ़ राज्य में दो मुख्य विपक्षी दलों भाजपा और कांग्रेस पर भारी पड़ सकता है।

    छत्तीसगढ़ में जल्द ही विधानसभा चुनाव होले वाले हैं ऐसे में राजनीतिक समीकरण तेजी के साथ बन और बिगड़ रहे हैं। पूर्व मुख्यमंत्री अजीत जोगी जो कि पहले कांग्रेस में थे, ने अपनी नई राजनीतिक पार्टी बनाई है। जिसमें उन्होंने बसपा और सीपीआई के साथ मिलकर चुनाव लड़ने का निर्णय लिया है। इस चुनाव में जोगी कांग्रेस को 55 बसपा को 33 और सीपीआई को 2 सीटें मिली हैं। सभी दलों ने अपने प्रत्याशियों ने नामों की घोषणा कर दी हैं।

    बस्तर संभाग में बगावती तेवर देखते हुए, सीपीआई ने बटवारे में मिली 2 सीटों के अलावा भी 3 सीटों पर प्रत्याशियों को मैदान में उतारा हैं। ऐसे में सीपीआई के ये बगावती तेवर महागठबंधन के लिए परेशानी खड़ी कर सकते हैं।

    ऐसे में माना जा रहा है कि यह महागठबंधन छत्तीसगढ़ की लगभग 30 से 35 विधानसभा की सीटों पर सीधा असर डाल सकता है। यहां सामान्य वर्ग के लिए 51 सीटें, एसटी वर्ग के लिए 29 सीटें और एससी वर्ग के लिए 10 सीटें आरक्षित की गई हैं। इस महागठबंधन का प्रभाव साफ तौर पर एसएसी और एसटी वर्ग की सीटों पर देखा जा सकता है। फिलहाल यह देखना दिलचस्प होगा कि यह महागठबंधन छत्तीसगढ़ विधानसभा चुनाव में अपना क्या रंग दिखाता है और अन्य पार्टियों पर इसका क्या प्रभाव पड़ता है।

    छत्तीसगढ़ में महागठबंधन से बिगड़ सकता है भाजपा-कांग्रेस का खेल

    छत्तीसगढ़ विधानसभा चुनाव में महागठबंधन नए सियासी समीकरण बनाने के लिए चुनावी मैदान में पूरी तैयारी के साथ उतर चुका है। यह महागठबंधन छत्तीसगढ़ राज्य में दो मुख्य विपक्षी दलों भाजपा और कांग्रेस पर भारी पड़ सकता है।

    छत्तीसगढ़ में जल्द ही विधानसभा चुनाव होले वाले हैं ऐसे में राजनीतिक समीकरण तेजी के साथ बन और बिगड़ रहे हैं। पूर्व मुख्यमंत्री अजीत जोगी जो कि पहले कांग्रेस में थे, ने अपनी नई राजनीतिक पार्टी बनाई है। जिसमें उन्होंने बसपा और सीपीआई के साथ मिलकर चुनाव लड़ने का निर्णय लिया है। इस चुनाव में जोगी कांग्रेस को 55 बसपा को 33 और सीपीआई को 2 सीटें मिली हैं। सभी दलों ने अपने प्रत्याशियों ने नामों की घोषणा कर दी हैं।

    बस्तर संभाग में बगावती तेवर देखते हुए, सीपीआई ने बटवारे में मिली 2 सीटों के अलावा भी 3 सीटों पर प्रत्याशियों को मैदान में उतारा हैं। ऐसे में सीपीआई के ये बगावती तेवर महागठबंधन के लिए परेशानी खड़ी कर सकते हैं।

    ऐसे में माना जा रहा है कि यह महागठबंधन छत्तीसगढ़ की लगभग 30 से 35 विधानसभा की सीटों पर सीधा असर डाल सकता है। यहां सामान्य वर्ग के लिए 51 सीटें, एसटी वर्ग के लिए 29 सीटें और एससी वर्ग के लिए 10 सीटें आरक्षित की गई हैं। इस महागठबंधन का प्रभाव साफ तौर पर एसएसी और एसटी वर्ग की सीटों पर देखा जा सकता है। फिलहाल यह देखना दिलचस्प होगा कि यह महागठबंधन छत्तीसगढ़ विधानसभा चुनाव में अपना क्या रंग दिखाता है और अन्य पार्टियों पर इसका क्या प्रभाव पड़ता है।

     

    2018-11-05 09:58:17 AM
  • Click to Read more News on Election and Politics.


Election and Politics News Capsules

Track your constituency