Track your constituency


अन्य समाचार



चुनाव नवीनतम समाचार

50 साल से देश में रह रहे लोगों को कागज का टुकड़ा दिखा कर नागरिक होने का सबूत देना पड़ रहा हैः मोहुआ मोइत्रा, एआईटीसी


चुनाव नवीनतम समाचार और अपडेट

लोकसभा चुनाव 2019 रिजल्ट्स लाइव अपडेट

लोकसभा चुनाव 2019 रिजल्ट्स लाइव अपडेट:   5:10:41 PM Election Results Live: 25 हजार से अधिक कार्यकर्ता पहुंचे बीजेपी मुख्यालय प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी शाम 6 बजे बीजेपी मुख्यालय जाकर कार्यकर्ताओं को आगे पढ़ें…

लोकसभा चुनाव 2019 सातवाँ चरण – Live Update

लोकसभा चुनाव 2019 सातवाँ चरण 6:16:55 PM Lok Sabha Election 2019 Phase 7 Live Update: शाम छह बजे तक कुल 60.21 प्रतिशत मतदान हुआ शाम छह बजे तक कुल 60.21 प्रतिशत आगे पढ़ें…

बंगाल में लोकतंत्र की मर्यादा ताक पर, लगातार हिंसक हो रहा माहौल

पश्चिम बंगाल आजकल एक लोकतंत्र होने की पहचान बनने में असमर्थ है। यहाँ चल रही चुनावी सरगर्मी के बीच केन्द्रीय बलों की 713 कम्पनियाँ और कुल 71 हजार सुरक्षा कर्मियों आगे पढ़ें…



पीएनबी घोटाला: कोलकाता एयरपोर्ट से गिरफ्तार किए गए मेहुल चोकसी के सहयोगी दीपक कुलकर्णी
प्रवर्तन निदेशालय (ईडी) ने मेहुल चोकसी के सहयोगी दीपक कुलकर्णी को कोलकाता एयरपोर्ट से गिरफ्तार कर लिया है।वह हांगकांग से कोलकाता पहुंचा था, तभी ईडी ने उसे गिरफ्तार कर लिया। कुलकर्णी हांगकांग में चोकसी की डमी फर्म का निदेशक था। ईडी और सीबीआई ने उसके खिलाफ लुक आउट सर्कुलर जारी किया था। कुलकर्णी को मनी लॉन्ड्रिंग के कानून के तहत गिरफ्तार किया गया है। उसे आज अदालत में पेश किया जाएगा औरमुंबई ले जाने के लिए ईडी उसका ट्रांजिट रिमांड मांगेगा। ईडी ने ये गिरफ्तारी दो अरब डॉलर के पंजाब नेशनल बैंक धोखाधड़ी प्रकरण में जांच के तहत धनशोधन से जुड़े एक मामले में की है।



सबरीमाला विवाद; दक्षिण भारत में भाजपा उठा सकती है फायदा
वर्तमान में केरल की धरती लेफ्ट-राइट का राजनीतिक अखाड़ा बनी हुई है। इसका मुख्य कारण है कि केरल के प्रसिद्ध सबरीमाला मंदिर में सुप्रीम कोर्ट ने महिलाओं की एंट्री को लेकर हरी झंडी दिखा दी है। इस फैसले के विरुद्ध कई धार्मिक संगठन सड़क पर उतर आए हैं।

खास बात ये है कि देश की सबसे बड़ी पार्टी भाजपा इन हिन्दू संगठनों के साथ खड़ी हो गई है। दक्षिण भारत में भाजपा जिस तरह से इन संगठनों के साथ खड़ी है उसे देख कर लगता है कि भाजपा 2019 से पहले दक्षिण में अपनी पहुँच बढ़ाने की कोशिश में जी-जान से जुटी हुई है।

भाजपा यह बात अच्छी तरह से जानती है कि यही सही मौका है, दक्षिण भारत में अपने पैर जमानें का, क्योंकि केरल में वामपंथी पार्टियों का आधार हिंदू वोटर हैं। तो वहीं कांग्रेस की ईसाई और मुस्लिम मतदाताओं में अच्छी पकड़ है। ऐसे में भाजपा हर हाल में हिन्दू वोटरों को अपनें तरफ करने की कोशिश करेगी। आपको बताते चलें कि केरल में हिंदुओं की आबादी करीब 52 प्रतिशत है। इसके अलावा 27 फीसदी मुस्लिम और 18 फीसदी ईसाई आबादी है।

केरल में भाजपा के प्रमुख गढ़
राज्य की 20 लोकसभा सीटों में से 2014 के चुनाव में भाजपा 18 सीटों पर चुनाव लड़ी थी और बाकी 2 सीटें अपने सहयोगी दलों को दी थीं। इनमें से एक सीट पर वह दूसरे स्थान पर रही और बाकी 17 सीटों पर तीसरे स्थान पर रही। त्रिवेंद्रम लोकसभा सीट पर भाजपा उम्मीदवार राजगोपाल दूसरे स्थान पर रहे। कांग्रेस उम्मीदवार शशि थरूर को यहां से 2 लाख 97 हजार 806 वोट मिले तो वहीं भाजपा के राजगोपाल को 2 लाख 82 हजार 336 वोट मिले। इस तरह शशि थरूर महज 15 हजार 470 वोट से जीतने में कामयाब रहे। इसके अलावा केरल में पांच लोकसभा सीट, कासरगोड, कोझीकोड, पलक्काड, त्रिशूर पथनमथीट्टा में भाजपा को एक लाख से ज्यादा वोट मिले थे। अब 2019 के चुनावों से पहले भाजपा धार्मिक राजनीति करके पूरी तरह से केरल में अपने वोट प्रतिशत को बढ़ने में लगी हुई है।



#MeToo: राहुल ने अकबर को लेकर प्रधानमंत्री मोदी की चुप्पी पर उठाए सवाल, कहा- 'BJP से बेटियों को बचाओ'
#MeToo अभियान के तहत विदेश राज्यमंत्री एमजे अकबर पर 12 महिला पत्रकारों द्वारा यौन शोषण के आरोप लगाए गए हैं। इस मामले को एक राजनीतिक मुद्दा बनाते हुए कांग्रेस अध्यक्ष राहुल गांधी ने मध्य प्रदेश में अपनी रैली के दौरान #MeToo को लेकर पीएम मोदी और उनकी सरकार पर निशाना साधा। #MeToo के तहत विदेश राज्यमंत्री एमजे अकबर पर लगे संगीन आरोपों पर पीएम मोदी की चुप्पी को लेकर राहुल गांधी ने तंज कसते हुए कहा कि- 'बीजेपी के नेताओं से बेटियों को बचाओ।'

राहुल गांधी ने कहा, 'मोदी जी ने बहुत अच्छा नारा दिया था 'बेटी बचाओ बेटी पढ़ाओ'। लेकिन बीजेपी के नेता ही इस नारे की अवहेलना करने में लगे हैं। पहले यूपी में एक विधायक पर रेप के आरोप लगे और अब यौन शोषण जैसे संगीन आरोपों में मोदी जी के एक केंद्रीय मंत्री पर सवाल उठ रहे हैं, लेकिन प्रधानमंत्री के मुंह से एक शब्द नहीं निकला।' इसी के साथ राहुल ने बीजेपी शासित उत्तर प्रदेश और मध्य प्रदेश के मुख्यमंत्रियों को भी आड़े हाथ लिया।

राहुल गांधी ने कहा, 'ऐसे में तो लगता है कि 'बेटी बचाओ बेटी पढ़ाओ' कैंपेन पर दोबारा से विचार करने की जरूरत है। क्योंकि, मौजूदा हालात में तो बेटी पढ़ाओ ठीक है, लेकिन बेटियों को बीजेपी के नेताओं, मंत्रियों और एमएलए से बचाना होगा।'

Last Updated on November 06, 2018