Track your constituency


शिवराज सिंह चौहान की जीवनी



चुनाव नवीनतम समाचार

Assembly Election 2019: 4:30:03 PM पुणे में 102 साल के हाजी इब्राहीम अलीम ने अपने परिवार के साथ  वोट डाला। हाजी इब्राहीम चार दिन से अस्पताल में भर्ती थे। उन्होंने लोगों आगे पढ़ें…


चुनाव नवीनतम समाचार और अपडेट

लोकसभा चुनाव 2019 रिजल्ट्स लाइव अपडेट

लोकसभा चुनाव 2019 रिजल्ट्स लाइव अपडेट:   5:10:41 PM Election Results Live: 25 हजार से अधिक कार्यकर्ता पहुंचे बीजेपी मुख्यालय प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी शाम 6 बजे बीजेपी मुख्यालय जाकर कार्यकर्ताओं को आगे पढ़ें…

लोकसभा चुनाव 2019 सातवाँ चरण – Live Update

लोकसभा चुनाव 2019 सातवाँ चरण 6:16:55 PM Lok Sabha Election 2019 Phase 7 Live Update: शाम छह बजे तक कुल 60.21 प्रतिशत मतदान हुआ शाम छह बजे तक कुल 60.21 प्रतिशत आगे पढ़ें…

बंगाल में लोकतंत्र की मर्यादा ताक पर, लगातार हिंसक हो रहा माहौल

पश्चिम बंगाल आजकल एक लोकतंत्र होने की पहचान बनने में असमर्थ है। यहाँ चल रही चुनावी सरगर्मी के बीच केन्द्रीय बलों की 713 कम्पनियाँ और कुल 71 हजार सुरक्षा कर्मियों आगे पढ़ें…



शिवराज सिंह चौहान

शिवराज सिंह चौहान

नाम शिवराज सिंह चौहान
विधानसभा क्षेत्रमध्य प्रदेश
राजनीतिक पार्टी भारतीय जनता पार्टी
जन्मतिथि 05/03/1959
जन्म स्थान जैत, सीहोर, मध्य प्रदेश
शिक्षा एम. ए. (दर्शन शास्त्र) गोल्ड मेडलिस्ट
वैवाहिक स्थितिविवाहित
जीवनसाथी साधना सिंह
संतान 2 पुत्र
पिता श्री प्रेम सिंह चौहान
माता श्रीमती सुंदर बाई चौहान
पद मध्य प्रदेश के 18वें मुख्यमंत्री

शिवराज सिंह के बारे में

शिवराज सिंह चौहान एक भारतीय राजनेता हैं, जिनकी राजनीतिक संबद्धता भारतीय जनता पार्टी है। मौजूदा समय में यह मध्य प्रदेश के मुख्यमंत्री हैं। मध्य प्रदेश की जनता के बीच 'भाई, बेटा और मामा' के नाम से जाने जाने वाले शिवराज ने अपनी समर्पित सेवा के कारण विपक्षी पार्टी के द्वारा एक मजबूत नेता के रूप में स्थान हासिल किया है।

शिवराज सिंह चौहान का निजी जीवन

शिवराज सिंह का जन्म 5 मार्च 1959 को मध्य प्रदेश में सीहोर के एक गांव जैत में हुआ था। चौहान के पिता का नाम प्रेम सिंह चौहान और माता का नाम सुंदरबाई चौहान है। उन्‍होंने भोपाल के बरकतउल्लाह विश्वविद्यालय से स्नातकोत्तर (दर्शनशास्त्र) तक स्वर्ण पदक के साथ शिक्षा प्राप्‍त की। चौहान का विवाह 1992 में साधना सिंह के साथ सम्पन्न हुआ। इनके दो पुत्र है। राजनीति में कदम रखने से पहले चौहान एक कृषि विशेषज्ञ थे।

शिवराज सिंह चौहान का राजनीतिक करियर

  • 1972: राष्ट्रीय स्वयं सेवक संघ में शामिल हुए।
  • 1975: आदर्श उच्चतर माध्यमिक विद्यालय के छात्र संघ के अध्यक्ष बने।
  • 1976: आपातकाल के खिलाफ आंदोलन में शामिल हुए।
  • 1978: एबीवीपी के आयोजन सचिव बने।
  • 1978: अखिल भारतीय विद्यार्थी परिषद (एबीवीपी) के संयुक्त सचिव बने।
  • 1980: अखिल भारतीय विद्यार्थी परिषद (एबीवीपी) के महासचिव बने।
  • 1982: अखिल भारतीय विद्यार्थी परिषद (एबीवीपी) में राष्ट्रीय कार्यकारिणी के सदस्य बने।
  • 1984: भारतीय जनता युवा मोर्चा के संयुक्त सचिव बने।
  • 1985: भारतीय जनता युवा मोर्चा के महासचिव बने।
  • 1988: भारतीय जनता युवा मोर्चा के अध्यक्ष बने।
  • 1990: बुदनी निर्वाचन क्षेत्र से राज्य विधानसभा के लिए चुने गये।
  • 1991: एबीवीपी के संयोजक बने।
  • 1991, 1996, 1998, 1999, 2004: संसद के सदस्य चुने गए।
  • 1992: मध्य प्रदेश में भाजपा के महासचिव बने।
  • 1993: श्रम और कल्याण परामर्श समिति के सदस्य बने।
  • 1994: हिन्दी सलाहकार समिति के सदस्य बने।
  • 1996: शहरी एवं ग्रामीण विकास समिति के सदस्य बने।
  • 1997: शहरी एवं ग्रामीण विकास समिति के सदस्य बने।
  • 1997: मध्य प्रदेश, भाजपा के सदस्य बने।
  • 1998: शहरी एवं ग्रामीण विकास समिति तथा इसकी उप-समिति ग्रामीण क्षेत्र एवं रोजगार के सदस्य बने।
  • 1999: कृषि समिति के सदस्य बने।
  • 1999: सार्वजनिक उपक्रमों की समिति के सदस्य बने।
  • 2000: युवा मोर्चा के राष्ट्रीय अध्यक्ष बने।
  • 2000: भाजपा से सदन समिति के चेरयमैन और राष्ट्रीय सचिव बने।
  • 2005, 2009, 2014: मध्य प्रदेश के मुख्यमंत्री बने।

शिवराज सिंह चौहान द्वारा की गई अहम पहलें

  • 2006: महिला भ्रूण हत्या को रोकने के लिए 'बेटी बचाओ अभियान' चलाया।
  • 2007: गर्भवती महिलाओं तो पूर्ण वित्तीय एवं चिकित्सीय सहायता प्रदान करने के लिए 'जननी सुरक्षा योजना' चलाई।
  • 2007: लाडली लक्ष्मी योजना। इस योजना में कक्षा 6 में प्रवेश लेने वाली प्रत्येक कन्या को 2000 रुपये और 9 वीं कक्षा में प्रवेश लेने पर 4000 रुपये की धनराशि प्रदान की जाती है। 11 वीं में प्रवेश लेने पर रुपये 7500 का एक मुश्त भुगतान किया जाता है। उच्च माध्यमिक शिक्षा के दौरान 200 रुपये प्रति माह दिए जाते हैं। 21 साल की आयु पूर्ण होने पर कन्या को 1 लाख रुपये से अधिक शेष राशि का भुगतान किया जाएगा।
  • हिन्दुओं और मुस्लिमों के सामूहिक विवाह का आयोजन करने, अजमेर के लिए विशेष ट्रेन चलाने और इफ्तार पार्टियों में भाग लेने जैसे कार्यों से उनके बड़े स्तर पर धर्मनिरपेक्षता के समर्थन को देखा जा सकता है।



शिवराज सिंह चौहान पर विवाद

2009 में, शिवराज सिंह ने अपने एक भाषण में कहा था कि राज्य की नौकरियाँ बिहार से आने वालों को नहीं मिलेंगी। उनके इस भाषण को लेकर देश भर मे उनकी काफी आलोचना की गई थी। हालांकि बाद में उन्होंने सफाई देते हुए कहा था कि मध्य प्रदेश में सभी का स्वागत है।

अवार्ड
  • 2011-12: 2011-12 में गेहूँ के सबसे ज्यादा उत्पादन के लिए कृषि कर्मण अवार्ड प्रदान किया गया।
  • 2011: एनडीटीवी द्वारा इंडियन ऑफ द ईयर अवार्ड प्रदान किया गया।
  • 2012: मध्य प्रदेश लोक सेवा गारंटी अधिनियम के लिए यूनाइटेड नेशन्स पब्लिक सर्विस अवार्ड प्रदान किया गया।
Last Updated on September 26, 2018